सुनो कहानी

एक बार एक बादशाह ने खुशी में सब कैदी रिहा कर दिये।

उन कैदियों में बादशाह ने एक कैदी को देखा जो इन्तेहाई बुजुर्ग था।
बादशाह : तुम कब से कैद हो…..????
बुजुर्ग : आप के अब्बा के दौर से।
यह सुनकर बादशाह की आंखों में आंसू आ गये और कहा..
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
इसको दोबारा कैद करो ये अब्बा की निशानी है।
😉😜😆

मॉरल ऑफ द स्टोरी:
चरिया.., ज्यादा सेंटी होके मॉरल-वॉरल मांगने का नई रे.., इतने पैसे में इतना-इच मिलता..! 😉

~ by Dr. Sanjeev Kumar on January 8, 2016.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: